स्वतंत्रता दिवस पर अद्भुत निबंध



हम स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाते हैं लेकिन हम वास्तव में स्वतंत्र हैं?

 

essay on national flag in hindi

 

SMS blog

70 साल हो गये आज़ादी को लेकिन आज भी भारत में कई ऐसी मूलभूत समस्याएं हैं जिन्हें दूर करना अति आवश्यक है | भारत इस समय पूरी दुनिया की सबसे तेज़ी से बढती हुई अर्थव्यस्था है ये हमारे लिये अच्छी बात है लेकिन आज भी देश में गरीबी, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी जैसी समस्याएं इतनी गंभीर और विकराल हैं अगर इन्हें जल्द से जल्द न रोका जाय तो देश के हित के लिए अच्छा नहीं होगा |

हम 15 अगस्त को अपनी 70वीं आजादी पूरी करेंगे। मुझे यकीन है कि हर किसी को लोकतांत्रिक देश के नागरिक होने पर गर्व है। भारत दुनिया में सबसे लंबे समय से लोकतंत्र है। भारत का गठन अपने नागरिकों को छह मौलिक अधिकार देता है। हमारे पास स्वतंत्रता, शिक्षा और संस्कृति के अधिकार, समानता के अधिकार, धर्म की स्वतंत्रता का अधिकार, शोषण के खिलाफ सही और संवैधानिक उपायों के अधिकार का अधिकार है। हमारे अधिकार हैं, लेकिन क्या हम वास्तव में स्वतंत्र हैं? भारत को ब्रिटिश शासन से 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली, लेकिन अब हमें भारत में कई सामाजिक बुराइयों और समस्याएं पूरी तरह से स्वतंत्र होने की जरूरत है जिनके पास उनकी मजबूत पकड़ है।

essay on national flag in hindi

 

मुझे क्या लगता है कि हम स्वतंत्र हो जाएँगे जब हम भ्रष्टाचार से मुक्त हो जाएंगे जिन्हें पूरी तरह से मिटा दिया जाना चाहिए। जो भी क्षेत्र में हम जाते हैं, क्लर्क से उच्च अधिकारियों तक हर कोई भ्रष्ट होता है। मेरे विचार में अगली बुराई स्त्री भ्रूण हत्या है। यहां तक ​​कि 21 वीं शताब्दी में, लोग एक लड़की को बोझ के रूप में देखते हैं। समय की साथ हमे हमारी मानसिकता को बदलना है और लड़कों और लड़कियों को समान अवसर प्रदान करने और उन्हें अपने मूल्यों को आगे बढ़ाने का मौका देने का समय है। जागरूकता पैदा करने के लिए हमें पहले उन्हें शिक्षित करने की आवश्यकता है।

आज भी जब तक अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़े वर्गों के सभी लोग सही गीता नहीं दिए जाते हैं, हम न ही गलत व्यवहार करते हैं और न सिर्फ मौखिक रूप से पीड़ित हैं बल्कि शारीरिक रूप से अस्पृश्य भी हैं, आज भी गांवों में मैनुअल स्केव्हेंगिंग (मतलब हाथ से गंदगी उठाने वाले) के लिए रिज़ॉर्ट है और वे इसी से अपनी जीविका कमाते हैं प्रगतिशील भारत के लिए इससे ज्यादा शर्म की बात और क्या हो सकती है |

essay on national flag in hindi

इसके अलावा देश में क्राइम रेट में भी वृद्धि हुई है न कि सिर्फ महिलाओं से छेड़छाड़ की जा रही है, बलकी बुजुर्गों और बच्चों को ऐसे समय का शिकार होना पद रहा है | हमे चाहिए की हमें अपने देश को सच्चे अर्थ में स्वतंत्र बनाने के लिए पूरी तरह से सभी सामाजिक बुराइयों को खत्म कराना पड़े। मेरे लिए हर दिन अपने अधिकारों की पहुंच है, सभी को बराबर माना जाता है, पुरुष-महिला अनुपात एक जैसा है, वृद्ध लोग बोझ नहीं हैं, लेकिन जिस तरह से उन्हें होना चाहिए, उनका सम्मान नहीं किया जाता है, लोगों को शिक्षित नहीं किया जाता है गरीबी उन्मूलन की जाती है | जिस दिन भारत में ये सब चीज़ें ठीक हो जायंगी उस दिन भारत वास्तव में मेरे लिए स्वतंत्र होगा |

मुझे इस बात की पूरी उम्मीद है की जिस तरह से भारत का कद अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर तेज़ी से बढ़ रहा है उसी तरह भारत की अंदरूनी समस्याओं का भी समाधान जल्द से जल्द संभव हो सकेगा | आपको मेरी तरफ से 70वें स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं |

ये निबंध हमे भेजा है Toyashi Kumari ने  Toyashi अभी 12th क्लास में पढ़ती हैं और राइटिंग में इंटरेस्ट रखती हैं

Related Post

Status For Independence Day And Janmashtami

Navjot singh sidhu motivational quotes in hindi

 

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*