type-2 diabeteses : how to control it



Diabetese आज एक ऐसा रोग हो गया है जिसके patients  लगभग सभी घर में मौजूद है

मधुमेह दो प्रकार के होते हैं, जिसमें पहला है टाइप 1 और दूसरा है टाइप 2। टाइप 1 मधुमेह के शुरुआती लक्षण हैं जिसमें इंसुलिन का बनना कम हो जाता है या फिर इंसुलिन बनना बंद हो जाती है, और इसे काफी हद तक नियंत्रण किया जा सकता है। वही टाइप 2 मधुमेह से प्रभावित लोगों का ब्लड शुगर लेवल बहुत ज्यादा बढ़ जाता है जिसको नियंत्रण करना बहुत मुश्किल होता है। इस अवस्था में उस व्यक्ति को अधिक प्यास लगती है, बार-बार मूत्र लगना और लगातार भूख लगना यह सारी समस्य़ा हो जाती हैं।

तो आइए जानते हैं type-2 diabetese के कुछ शुरुआती लक्षण ।
1.  घावों का जल्दी ठीक न होना
2.  त्वचा पर खुजली (आम तौर पर जननांगों और उदर के   आस पास)
3.  लगातार खमीर संक्रमण
4.  अचानक से वजन बढ़ना या घट जाना
5.  बगल, उदर और गर्दन की त्वचा का रंग बदल जाना, जिसे   असान्थोसिस कहा जाता है
6.  स्तब्धता, हाथ और पैरों में झुनझुनी
7.  धुंधला दिखना शुरू हो जाना

 कई तरह की reserch में ये बात सामने आ चुकी है कि excersise से diabetese को control किया जा सकता है। regular excercise से हमारी पूरी बॉडी active रहती है और यह type 2 diabetese को  control करने का सबसे easy तरीका है । 1 सप्ताह में काम से कम 200 -250 मिनट ऐरोबिक्स और दूसरे व्यायाम जरूर करने चाहिए।

आइये जानते हैं dealy excercise करने के कुछ फायदे :

1.  Depression से लड़ने में मदद मिलती है।
2.  रोजमर्रा के कामो के लिए body में proper energy होती है।
3.  heart storck और heart releted problems का खतरा बेहद कम हो जाता है।
4.  regular excersise करने से नींद बहुत अच्छी आती है।
5.  diabetese के pataint के लिए अपना weight control करना बहुत जरुरी है, आप dealy excersise         से अपना weight control कर सकते हैं।
6.  blood में shugar के बढे हुए lavel की वजह से body का ब्लड सर्कुलेशन effective होता है। regular         excersise से blood serculation अच्छा होता है और blood पूरी body में properly पहुँच जाता है।

आपकी मदद करेंगे ये 4 excercise

यहाँ हम ऐसे 4 excercises बता रहे हैं जिसे आप अपनी dealy life में apply कर के अपनी body को अच्छे से maintain रख सकते हैं।

1.  weight training :>
         weight training मांसपेशियों को मजबूत बनाती है। टाइप 2 diabetese वालो के लिए मजबूत मांसपेशियां बहुत ही जरुरी हैं।अपने diabetic management plan के under सप्ताह में पांच दिन 3 किलो तक के वजन के साथ 5 से 10 मिनट weight training करनी चाहिए।

2.  Swimming:>
         swimming एक ऐसा व्यायाम है जिसे सभी को करना चाहिए । मधुमेह के मरीजों में पैर की तरफ blood serculation कम हो जाता है। swimming में jogging की तुलना में कम जोर लगाना पड़ता है और पूरे body की excercise एक साथ हो जाती है।

3.  cycling:>
          क्या आप जानते हैं  regular cycling करने से दिल मजबूत बनता है और आपके फेफडे बेहतर ढंग से अपना काम कर पाते हैं । cycle चलने से बुरे बॉडी म blood serculation अच्छा होता है और इससे वजन को कंट्रोल karne में मदद मिलती है।

4.  yogasan:>
           आजकल लोगो में योग करने का crage हो चला है जो की बेहद अच्छी बात है। नियमित योग करने से body fat काम होता है, insulin control में रहता है, nervous system अच्छा रहता है और योगासन करने का सबसे बड़ा फायदा ये है कि आप इसे कभी भी कर सकते हैं।

आजकल की दिनचर्या बहुत ही व्यस्त है आप सभी लोग जानते ही हैं। पर क्या हम अपने काम की वजह से अपनी सेहत का ध्यान रखना छोड़ दें? नहीं ना , एक दिन में बहुत time ऐसा होता है जब हम कुछ नहीं कर रहे होते हैं। तो क्या हम उस time को usefull नही बना सकते ? जरूर बना सकते हैं, हम उस ख़ाली टाइम में थोड़े ही सही पर कुछ excercise करके अपनी body को tone कर सकते है जो की हमारे लिए ही अच्छा होगा। मुझे विश्वास है कि खासकर के आप जी हां आप ही अपनी busy shedule से थोड़ा time निकाल के अपनी सेहत पर थोड़ा ध्यान जरूर देंगे।

उम्मीद करता हूँ की इस article में आपको बहुत कुछ पता चला होगा और आप इससे संतुष्ट भी होंगे ।
यदि आप हमारे इस article को शेयर करके अपने मित्रों तक और दूसरे लोगो तक पहुचायेंगे तो वे लोग भी इसे पढ़कर इसका लाभ उठा सकते हैं।

If you like this post so please share this on diffrent social media platforms like Facebook, Twitter, Google+, Pinterest etc by clicking on that icon. Thank you & keep reading.

7 Comments

  1. First things first, you need to set a fixed target date when ever you may completely quit, including two or three weeks from now. Once you discover the top natural options, you are able to again have full control of your sexual pleasures.

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*